Cryptocurrency के बारे में जानकारी | India में Cryptocurrency कैसे खरीदें
Cryptocurrency ki jankari

Cryptocurrency के बारे में जानकारी | India में Cryptocurrency कैसे खरीदें

एक शब्द जो आज कल हर किसी के जुबान पर छाया हुवा है, वह है, Cryptocurrency तो आख़िर क्रिप्टोकरेंसी किसे कहते हैं, यह क्या होता है। इस पोस्ट में हम क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े आपके इन सभी सवालों के जवाब देने जा रहे हैं, जहाँ आपको Cryptocurrency के बारे में काफी जानकारी प्राप्त हो जाएगी और साथ ही आप यह भी जान जाएंगे की cryptocurrency को कैसे खरीदा जाता है। 

दोस्तों यह डिजिटल युग चल रहा है, जहाँ हर चीज, हर सुविधा डिजिटल रूप में मौजूद है, उसी प्रकार पैसा भी अब डिजिटल हो चला है, यानि अब पैसा सिर्फ वही नहीं है, जो आप अपने बैंक में रखते हैं, या अपने जेब में संभाल कर रखते हैं।

बल्कि अब digital currency आ चुकी है, जिसे Cryptocurrency कहा जाता है, इसका एक चर्चित उदाहरण आप बिटकॉइन से ले सकते हैं, बिटकॉइन भी एक क्रिप्टोकरेंसी है, जिसका नाम आज हर किसी ने सुना होगा, लेकिन हम में से बहुत से लोग अभी भी क्रिप्टोकरेंसी के बारे में उतना नहीं जानते हैं, तो इस पोस्ट को लिखने का हमारा मुख्य उद्देश्य उन सभी लोगों तक आसान शब्दों में Cryptocurrency की जानकारी पहुँचाना है। तो चलिए फटाफट पहले क्रिप्टोकोर्रेंसी के बारे में जानते हैं, की यह क्या है, फिर आपको बताएंगे की क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें। 

Cryptocurrency के बारे में जानकारी | Cryptocurrency information in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल मुद्रा है, इसे वर्चुअल करेंसी भी कहा जाता है, लेकिन सवाल यह है, की आख़िर वर्चुअल करेंसी होती क्या है। जिस प्रकार हम एक आम करेंसी जैसे की रूपये को अपने बैंक में रखते हैं, उसे छू सकते हैं, या अपनी जेब में रख कर एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जा सकते हैं, उससे ठीक उलट वर्चुअल करेंसी यानि की क्रिप्टोकरेंसी में ऐसा कुछ भी नहीं किया जा सकता है। 

क्रिप्टोकरेंसी को ना आप छू सकते हैं, ना बैंक में जमा करवा सकते हैं, और ना ही एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जा सकते हैं, क्योंकि यह करेंसी डिजिटल रूप में मौजूद होती है, यानि इस डिजिटल मुद्रा को सिर्फ अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल फोन द्वारा ही देखा जा सकता है, या इसका उपयोग किया जा सकता है। 

जहाँ एक आम मुद्रा को देश की सरकार या केंद्रीय बैंक द्वारा जारी किया जाता है, थता उसे सरकारी व्यवस्था और लोगों द्वारा मान्यता प्राप्त होती है, वहीँ क्रिप्टोकरेंसी को ना ही किसी देश की सरकार या केंद्रीय बैंक जारी करता है, और ना ही इसे किसी सरकारी व्यवस्था द्वारा मान्यता प्राप्त होती है, यानि क्रिप्टोकरेंसी में किसी भी संस्था या अथॉरिटी का कोई भी हस्तक्षेप नहीं होता है। 

क्रिप्टोकरेंसी एक Decentralized यानि विकेन्द्रीकृत डिजिटल करेंसी है, जिसे किसी बैंक या central authority द्वारा कंट्रोल या मैनेज नहीं किया जाता है, बल्कि इंटरनेट पर फैले इसके Users की विशाल कम्युनिटी ही इसे manage थता maintain करती है। यदि बात की जाए की क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन या एक्सचेंज कैसे किया जाता है, या यह डिजिटल करेंसी कैसे काम करती है, तो बता दें की क्रिप्टो का लेन-देन (P2P) peer to peer सिस्टम पर आधारित होता है, यानि इसमें बिना किसी Central authority के दो Users के बीच सीधे तोर पर क्रिप्टोकरेंसी का लेन-देन किया जाता है। क्रिप्टोकरेंसी के इस लेन-देन की एंट्री या इसका रिकॉर्ड एक public ledger में स्टोर होता है, जिसे Blockchain कहा जाता है।

ब्लॉकचैन एक shared ledger होता है, जो क्रिप्टो नेटवर्क से जुड़े सभी कम्प्यूटरों पर shared रहता है, थता नेटवर्क से जुड़े हर एक कंप्यूटर पर Blockchain ledger की कॉपी स्टोर रहती है। यदि एक बार ब्लॉकचैन में क्रिप्टो से जुड़ी किसी भी ट्रांसेक्शन की एंट्री हो जाती है, तो फिर उसमे कोई भी बदलाव करना, या उस एंट्री से छेड़-छाड़ करना नाममुकिन होता है, क्योंकि ब्लॉकचैन एक पारदर्शी प्रणाली है, जो काफी सुरक्षित होती है। 

अब सवाल उठता है, की आखिर क्रिप्टो ट्रांसेक्शन को कैसे सुरक्षित रखा जाता है, तो यहाँ पर इसकी सुरक्षा Cryptography द्वारा की जाती है। क्रिप्टोग्राफ़ी एक सुरक्षा प्रणाली है, जिसके द्वारा ना सिर्फ क्रप्टो ट्रांसेक्शन्स को secure रखा जाता है, बल्कि इसकी मदद से नेटवर्क में कोई भी additional unit तैयार होने से रोका जाता है, साथ ही यह digital assets या टोकन के ट्रांसफर को भी वेरीफाई करता है, यानि क्रिप्टोग्राफ़ी सुरक्षा प्रणाली के होने के कारण क्रिप्टोकरेंसी ट्रांसेक्शन में धोखा-धड़ी करना नामुमकिन है। 

यदि बात की जाए की क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खर्च किया जा सकता है, तो आपको बता दें की अब दुनिया के बहुत से देशों में क्रिप्टोकरेंसी द्वारा ऑनलाइन purchasing की जा सकती है, क्योंकि दुनिया भर में धीरे-धीरे ही सही Bitcoin के रूप में क्रिप्टोकरेंसी को accept किया जा रहा है, यहाँ तक की भारत में भी अब विभिन्न ऑनलाइन मंचों पर क्रिप्टोकरेंसी के बदले vouchers ख़रीदे जा सकते हैं, जिनका इस्तेमाल फिर दूसरे प्रोडक्ट्स को खरीदने के लिए किया जाता है। 

साथ ही अब ऐसे ढेरों ऑनलाइन क्रिप्टो एक्सचेंज मौजूद हैं, जहाँ पर आप Fiat money को क्रिप्टोकरेंसी में थता क्रिप्टोकरेंसी को Fiat money में एक्सचेंज कर सकते हैं, यह सब बस कुछ सेकंड के भीतर ही किया जा सकता है। तो यदि आप भी क्रिप्टोकरेंसी में दिलचस्पी रखते हैं, और इसमें कुछ इन्वेस्ट करना चाहते हैं, तो चलिए आपको बताते हैं, के किस प्रकार आप क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं। 

India में Cryptocurrency कैसे खरीदें | How to buy cryptocurrency in Hindi

ऊपर दी गई जानकारी को पढ़कर निश्चित ही आपको cryptocurrency के बारे में काफी कुछ पता चल गया होगा, यदि आप भी  क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहते हैं, और इसके process को समझना चाहते हैं, तो चलिए हम आपको बताते हैं। पहली बात जिसका आपको हमेशा ध्यान रखना है, की यदि आप क्रिप्टोकरेंसी में बिलकुल नए हैं, और ऐसी सोच रखते हैं, की आप बस इसमें पैसा लगाएंगे और मालामाल हो जाएंगे तो ऐसा बिलकुल भी नहीं होने वाला है।

यह मार्किट भी शेयर मार्किट की ही तरह है, जहाँ हर एक कोइन की कीमत ऊपर नीचे होती रहती है, जरुरी नहीं की जो कॉइन आपने आज ख़रीदा है, वह रातो रात आपको मुनाफा कमा कर देगा, बल्कि इस मार्किट में बहुत धैर्य की आवश्यकता होती है, और हमेशा अपडेट रहना पड़ता है, तो यदि आप इन सब खतरों को समझते हैं, तो ही क्रिप्टोकरेंसी में अपना पैसा लगाएं। अपनी शुरुवात कम investment के साथ करें, ताकि आप धीरे-धीरे चीजों को समझ सकें और आपको किसी प्रकार का नुकसान भी ना उठाना पड़े।

अक्सर क्रिप्टोकरेंसी का नाम सुनते ही नया व्यक्ति बिटकॉइन के बारे मे सोचने लगता है, तो यहाँ पर आपको बता दें की मार्किट में बिटकॉइन की ही तरह ऐसी हजारों दूसरी क्रिप्टोकरेंसी है, जिन्हे आप खरीद सकते हैं, और हर रोज दूसरे कई क्रीटो टोकन भी मार्किट में निकलते रहते हैं। बिटकॉइन की शुरुवात भी इन नई क्रिप्टोकरेंसी की ही तरह हुई थी, आज जिसके कीमत आसमान छू रही है, तो मार्किट में उतारे जाने वाले हर नए टोकन के भविष्य की संभावनाओं को समझने की कोशिश करें, क्या पता आप अच्छा मुनाफा काफा लें। 

क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए आपको यह करना होगा। 

  • क्रिप्टोकरेंसी खरीदने या बेचने के लिए सबसे पहले आपको किसी सही Crypto exchange को चुनकर वहां अपना प्रोफाइल तैयार करना होगा। भारत में ऐसे कई क्रिप्टो एक्सचेंज हैं, जिनमे आप अपना ट्रेडिंग अकाउंट open कर सकते हैं, जैसे Wazirx, CoinDCX, CoinSwitch kuber, Zebpay इत्यादि, साथ ही यदि आप दुनिया के बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज में अपना ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना चाहते हैं, तो Binance या Coinbase ऐसे दो बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज हैं, जिनमें आप अपनी प्रोफाइल बना सकते हैं। क्रिप्टो एक्सचेंज आपको विभिन्न क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने व बेचने का विक्लप देते हैं, जिसके बदले वे अपनी कुछ प्रतिशत ट्रांसेक्शन चार्ज लेते हैं।   

  • अपना ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट कंपनी के साथ साँझा करने होते हैं, यानि अपना KYC करावाना होता है, ताकि भविष्य में आप किसी प्रकार की धोखा-धड़ी या गड़बड़ी से बच सकें। हर एक एक्सचेंज द्वारा मांगे जाने वाले डॉक्यूमेंट में थोड़ा बहुत बदलाव हो सकता है, लेकिन मुख्यतः निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की कॉपी आपसे मांगी जाती है, जैसे आपका एक Id proof जिसमे (Aadhar card, pan card, Driving license, passport) कुछ भी आप शेयर कर सकते हैं। पैन कार्ड जरूर माँगा जाता है, बैंक अकाउंट नंबर या बैंक की जानकारी, ध्यान रहे आपका बैंक में, प्रोफाइल में थता id पहचान डॉक्यूमेंट में यानि सभी जगह नाम एक जैसा हो। इसके साथ-साथ आपकी एक सही email id थता फोन नंबर भी आपसे माँगा जाता है, और वेरीफाई किया जाता है। कई एक्सचेंज में प्रोफाइल बनाते समय वीडियो द्वारा आपके चेहरे की भी सही से पेहचान कर ली जाती है।  

  • एक बार जब KYC की प्रकिया पूरी हो जाती है, तो आपका ट्रेडिंग अकाउंट activate कर दिया जाता है। अब आप ट्रेडिंग के ऑप्शन पर जाकर लाइव क्रिप्टोकरेंसी की कीमते देख सकते हैं। आपको अपने चुने हुवे कॉइन के ट्रेंड को समझना है, की पुछले एक महीने में, साल में या हफ्ते में उस कॉइन में क्या उतार-चढ़ाव रहा है, जिसकी जानकारी आप विभिन्न ऑनलाइन मंचों से ले  सकते हैं, साथ ही एक्सचेंज पर भी आपको हर एक कॉइन की हिस्ट्री उसके ग्राफ के रूप में दिख जाती है। यह सब पता करने के बाद ही आप किसी भी क्रिप्टो कॉइन को खरदीने का मन बनाए। 

  • अब आपने जब किसी क्रिप्टो करेंसी को खरीदने का मन बना लिया है, तो इसके लिए पहले आपको अपने ट्रेडिंग अकाउंट या वॉलेट में पैसा जमा करना होगा, यानि क्रिप्टो कॉइन खरदीने के लिए आपके वॉलेट में balance होना अनिवार्य है। इसके बाद वॉलेट में पैसा आते ही आप अपने चुने हुवे कॉइन को खोलें और buy कर लें, इस प्रक्रिया में ट्रांसेक्शन के लिए आपसे OTP के लिए भी पूछा जा सकता है। 

 

दोस्तों हमें उम्मीद है, हमारी इस पोस्ट को पढ़कर आपको क्रिप्टोकरेंसी के बारे में काफी जानकारी प्राप्त हो गई होगी, और आप जान होंगे की Cryptocurrency किसे कहते हैं, और India में Cryptocurrency कैसे खरीद सकते हैं। आज क्रिप्टोकरेंसी ना सिर्फ दुनिया भर में बल्कि भारत में भी एक अहम् टॉपिक बना हुवा है, लोग इसके बारे में सर्च कर रहे हैं, सभी की नजर इस पर बानी हुई है, और हर कोई क्रिप्टो के बारे में जानना चाहता है, उसे देखकर यही लगता है, की आने वाले दिनों में क्रिप्टोकरेंसी मार्किट में काफी growth होने वाली है। 

यह भी पढ़ें :-

बैंक में करंट अकाउंट कैसे खुलवाते हैं
SBI क्रेडिट कार्ड का पेमेंट कैसे करें

Leave a Reply