Current account kaise khole | करंट अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट
current account khole

Current account kaise khole | करंट अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

Current account kaise khole | How to open current account

हैलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपको करंट अकाउंट के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं, जैसे की Current account क्या होता है, Current account kaise khole, इसे क्यों और कब खोला जाता है, थता करंट अकाउंट खुलवाने के लिए आपको किन documents की आवश्यकता पड़ती है। 

जब भी आप कोई व्यापार (Business) शुरू करने जाते हैं, जिसमे लेन-देन (transections) काफी अधिक होंती हैं, तो उसे शुरू करते समय आपको जिन चीजों की आवश्यकता पड़ती है, उनमे Current account आपकी एक सबसे महत्वपूर्ण जरुरत है। जिस प्रकार आप अपने व्यक्तिगत उपयोग के लिए बैंक में सेविंग अकाउंट खुलवाते हैं, उसमे पैसे जमा करते हैं, या निकालते हैं, उसी प्रकार बिज़नेस में होने वाले पैसे के लेन-देन के लिए Current account यानि चालू खाते की जरुरत होती है।   

यदि आपके मन में सवाल उठ रहा है, की आख़िर बिज़नेस के लिए चालू खाते की ही आवश्यकता क्यों होती है, आप सेविंग अकाउंट से भी तो लेन-देन कर सकते हैं, तो आपको बता दें की, जी हाँ आप पर्सनल अकाउंट से भी बिज़नेस ट्रांसेक्शन्स कर सकते हैं, लेकिन उसकी बहुत थोड़ा ट्रांसेक्शन लिमिट होती हैं, उस लिमिट के ख़तम होने के बाद बैंक आपसे ट्रांसेक्शन चार्ज लेने लगता है, और साथ ही आपको दूसरी कई दिक्कतों का सामना भी करना पड़ सकता है। 

क्योंकि सेविंग अकाउंट में पर्सनल और बिज़नेस दोनों से जुड़ी ट्रांसेक्शन मिक्स हो जाती हैं, जिससे tax assessment के समय या पेमेंट मैच के समय दिक्कतें उतपन्न होती हैं, book keeping में उलझन होती है,  बिज़नेस के खर्चों का पता लगाना सरदर्दी का काम हो जाता है, और जैसे-जैसे बिज़नेस का आकार बड़ा होता जाता है, मुसीबतें बढ़ती चली जाती हैं। इसी लिए Current account बिज़नेस शुरू करने की एक सबसे पहली जरुरत होती है, जिसमे सिर्फ बिज़नेस से जुड़ी ट्रांसेक्शन्स ही की जाती हैं।

अब आप यह तो जान ही गए होंगे की Current account बिज़नेस के लिए कितना आवश्यक है, तो चलिए आगे बढ़ते हैं, और करंट अकाउंट के बारे में और अधिक गहराई से जानते हैं। 

Current account क्या है। What is current account in Hindi

बैंक अपने ग्राहकों की आवश्यकता अनुसार उन्हें विभिन्न प्रकार के अकाउंट खुलवाने की सुविधा प्रदान करता है, उनमे से एक अकाउंट Current account भी है।

करंट अकाउंट को बिज़नेस अकाउंट भी कहा जाता है, इसे तब खुलवाया जाता है, जब आप कोई बिज़नेस शुरू करने जा रहे हैं, या कर रहे हैं, जहाँ पर आपकी नियमित बैंक ट्रांसेक्शन्स होती हैं। यह बैंक अकाउंट कंपनियों, फर्मों, थता व्यवसायियों के बीच काफी लोकप्रिय है, क्योंकि व्यापार में पैसे के लेन-देन के लिए Current account का ही उपयोग किया जाता है, जहाँ पर व्यापारी का बैंक के साथ नियमित लेन-देन चलता रहता है, यानि बैंक में उनकी regular transections होती हैं। करंट अकाउंट को Demand deposit account भी कहा जाता है। 

करंट अकाउंट को किसी भी कमर्शियल बैंक में खुलवाया जा सकता है, लेकिन इसे खुलवाने के लिए कम से कम 5000 से 25000 bank deposit करना पड़ता है, जो की हर एक बैंक का अलग नियम है। आम तोर पर जहाँ सरकारी बैंकों में कम से कम 5000 रुपया जमा कर आपका करंट अकाउंट खोल दिया जाता है, वहीँ कई बड़े कमर्शियल बैंकों में करंट अकाउंट खुलवाने के लिए 20 से 25000 तक की राशि जमा करनी पड़ती है। हालाँकि यह पैसा आपके करंट अकाउंट में ही जमा रहता है, जिसे आपको maintain करके रखना होता है। 

जैसे की हमने ऊपर भी बताया है, की करंट अकाउंट में ट्रांसेक्शन्स की कोई लिमिट नहीं होती है, यानि आप कितनी भी ट्रांसेक्शन्स कर सकते हैं, इसी कारण करंट अकाउंट में Account holder को उसके जमा पैसे पर कोई भी Interest नहीं मिलता है, भले ही  अकाउंट में कितने भी पैसे क्यों ना जमा हों। करंट अकाउंट में पैसे का लेन-देन आम तोर पर Cheque या Net banking द्वारा किया जाता है, वहीँ आप इसमें Cash भी निकाल व जमा कर सकते हैं। 

Current account kaise khole | करंट अकाउंट कैसे खोलें

दि आप भी अपने बिज़नेस के लिए करंट अकाउंट खुलवाना चाहते हैं, तो इसे आप आसानी से खुलवा सकते हैं। करंट अकाउंट की सुविधा देश के लगभग हर एक बड़े बैंक में उपलब्ध है। करंट अकाउंट खुलवाने के लिए बस आपको अपने बैंक में जाना है, और account opening का फॉर्म लेकर भर देना है, जिसमे account type के स्थान पर Current account को चुनना है, साथ ही फॉर्म में मांगी गई दूसरी सभी जानकारियों को भी साफ-साफ भर देना है।

लेकिन ध्यान रहे की करंट अकाउंट बिज़नेस के नाम पर खुलता है, तो आपको अपने थता अपने बिज़नेस से जुड़े डाक्यूमेंट्स भी बैंक में लेकर जाने हैं। यदि किसी कारण फ़िलहाल आप बैंक में नहीं जाना चाहते हैं, तो Current account के लिए online भी apply किया जा सकता है, यह सुविधा लगभग सभी बड़े बैंको में उपलब्ध है, ध्यान रहे की सिर्फ apply कर सकते हैं, अकाउंट खुलवाने के लिए डाक्यूमेंट्स के साथ आपको बैंक में जाना ही पड़ेगा।  

करंट अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक डाक्यूमेंट्स।

करंट अकाउंट खुलवाने के लिए मुख्य रूप से दो तरह से डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है, पहला आपके KYC से जुड़े डाक्यूमेंट्स थता दूसरा बिज़नेस प्रमाण से जुड़े डाक्यूमेंट्स, तो चलिए जानते हैं, ये सभी डाक्यूमेंट्स कौन से हैं।   

  • आपका Identity proof जैसे Pan card, Aadhar card, Voter id, Passport, Driving license इत्यादि। 
  • आपका Address proof जैसे Aadhar card, Valid passport, electricity bill इत्यादि। 
  • आपकी 2 पासपोर्ट साइज कलर फोटोग्राफ। 
  • अकाउंट खोलने के लिए आपका एक चेक। 
  • बिज़नेस की मुहर। 
  • बिजनेस के डॉक्यूमेंट जैसे GST रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या MSME रजिस्ट्रेशन। 
  • Business का एड्रेस प्रूफ जैसे रेंट एग्रीमेंट इत्यादि। 
  • यदि अकाउंट पार्टनरशिप में खुलवाना है, तो partnership deed की कॉपी। 

करंट अकाउंट खुलवाने के लिए ऊपर बताए गए यह डाक्यूमेंट्स लगभग सभी बैंकों में मांगे जाते हैं, तो बैंक में जाने से पहले इन डाक्यूमेंट्स को जरूर तैयार कर लें, ताकि आपका अकाउंट खुलने में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो । 

अंतिम शब्द

दोस्तों आपने जाना Current account क्या होता है, Current account kaise khole थता अकाउंट खोलने के लिए वो सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स जिनकी आपको आवश्यकता होगी। कोशिश करें की करंट अकाउंट हमेशा बिज़नेस या अपने आस-पास ही खुलवाएं ताकि अकाउंट संबंधी कार्यों के लिए आपको दूर ना जाना पड़े। 

पढ़ें और जाने :- आर-बी-आई का क्या काम है। 

Leave a Reply