Data entry jobs kya hota hai | Data entry Jobs के लिए क्या योग्यता चाहिए
data entry kya hota hai

Data entry jobs kya hota hai | Data entry Jobs के लिए क्या योग्यता चाहिए

आज के इस पोस्ट में हम डाटा एंट्री के बारे में विस्तार से जानेंगे, जैसे की Data entry kya hota hai, data entry jobs kya hota hai, थता डाटा एंट्री में करियर कैसे बना सकते हैं।

आपको बता दें, डाटा एंट्री जॉब्स करके लोग घर बैठे काफी अच्छा पैसा कमा रहे हैं, क्योंकि आपके पास यदि कीबोर्ड या टाइपिंग से जुड़ी स्किल्स हैं, आपकी रीडिंग, टाइपिंग अच्छी है, और आप तैय समय सीमा के अंदर कार्य करने की क्षमता रखते हैं, तो data entry से जुड़ा कार्य आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, और आप इसमें अपना करियर भी बना सकते हैं।

यह वह फील्ड है, जो आपको पार्ट टाइम, फुल टाइम, वर्क फ्रॉम होम या Freelancing सभी प्रकार के विकल्प देता है, यानि आपके ऊपर निर्भर करता है, की आप डाटा एंट्री का कार्य किस प्रकार से थता किस स्तर पर करना चाहते हैं। यदि आपके मन में सवाल हैं, की आख़िर डाटा एंट्री जाब्स क्या होतीं है, इसमें कैसे काम करते हैं, या डाटा ऑपरेटर कैसे बन सकते हैं, तो इस पोस्ट में आपको डाटा एंट्री से जुड़े अपने सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे। 

घर बैठे भी डाटा एंट्री जॉब करके काफी अच्छा पैसा कमाया जा सकता है, क्योंकि आज ऐसे ढेरों ऑनलाइन मंच मौजूद हैं, जहाँ डाटा एंट्री से जुड़े कार्यों को outsource किया जाता है। वहीँ यदि आप इसे अपना full time job बनाना चाहते हैं, यानि एक data operator  बनना चाहते हैं, तो यह आपके लिए एक अच्छा करियर विकल्प साबित हो सकता है। तो चलिए सबसे पहले जानते हैं, डाटा एंट्री क्या होता है, और उसके बाद डाटा एंट्री से जुड़े दूसरे पहलुओं को समझेंगे। 

Data entry kya hota hai | What is Data entry in hindi

यदि Data entry के नाम से आपको लग रहा है, की यह कोई टेक्निकल कार्य होगा या इसके लिए आपको टेक्निकल योग्यता की आवश्यकता होगी तो आपको बता दें की ऐसा बिलकुल भी नहीं है, बल्कि आपको यदि कंप्यूटर चलाना आता है, और आपकी टाइपिंग अच्छी है, तो आप डाटा एंट्री का कार्य कर सकते हैं, तो चलिए जानते हैं, डाटा एंट्री क्या है। 

विभिन्न श्रोतों से प्राप्त डाटा को कंप्यूटर सिस्टम पर इंस्टॉल्ड किसी विशेष सॉफ्टवेयर पर फीड करना या सॉफ्टवेयर में उस डाटा की entry करना या डाटा को update करना, ही data entry कहलाता है। दूसरे शब्दों में कहें, तो जब कंप्यूटर पर कीबोर्ड, स्कैनर, या वॉइस द्वारा किसी डाटा को Input किया जाता है, या डाटा को टाइप किया जाता है, तो उसे Data entry कहा जाता है, और डाटा एंट्री करने वाले व्यक्ति को Data operator कहते हैं। 

उदाहरण के तोर पर यदि आपके पास कोई पेपर डॉक्यूमेंट है, और उस पर लिखी जानकारी को आप कंप्यूटर पर इनस्टॉल किए गए किसी विशेष सॉफ्टवेयर या Word, Excel, spreadsheet पर टाइप कर रहे हैं, या ऐसी किसी भी इनफार्मेशन को अपडेट कर रहे हैं, तो यह सब Data entry task के अंतर्गत आता है। 

Data entry jobs kya hota hai | What is Data entry job in hindi

डाटा एंट्री एक प्रकार का लिपिक कार्य (Clerical work) है, जिसमे डाटा एंट्री ऑपरेटर विभिन्न श्रोतों से प्राप्त की गई या इखट्टा की गई जानकारी (Information) को Digital form में add, edit या Update करते हैं। डाटा एंट्री जॉब्स के अंतर्गत वो हर कार्य आता है, जिसमे डाटा की entry, data sorting, data accuracy या Data का Updation इत्यादि शामिल होता है, और इन सब के साथ-साथ डाटा ऑपरेटर के कार्यों में रिकॉर्डिंग थता फोन बातचीत को ट्रांस्क्रिप्ट करना भी शामिल रहता है। 

आज के डिजिटल युग में डाटा का महत्व किसी से छुपा नहीं है, और जिस तेजी के साथ आज बिज़नेस से जुड़े डाटा की मांग बढ़ती जा रही है, ऐसे में उन professionals यानि (Data operators) की भी भारी मांग है, जो Collect की गई information को पूरी  accuracy के साथ maintain कर सके। 

डाटा एंट्री का कार्य सिर्फ किसी एक फील्ड तक या कागज पर लिखे शब्दों को कंप्यूटर पर टाइप करने तक ही सिमित नहीं रह गया है, बल्कि आज हर इंडस्ट्री में डाटा ऑपरेटर के कार्य का महत्व है। आप चाहे होटल इंडस्ट्री की बात कर लें, मेडिकल, IT, बैंक, एकाउंट्स हर क्षेत्र में डाटा एंट्री की जाती है, थता data operator की आवश्यकता होती है। 

चलिए एक आसान उदाहरण द्वारा डाटा एंट्री जॉब को समझते हैं, मान लीजिए यदि आप किसी होटल में कमरा बुक करते हैं, तो वहां पर होटल स्टाफ द्वारा सबसे पहले कंप्यूटर सॉफ्टवेयर पर आप से जुड़ी पूरी जानकारी टाइप की जाती है, जैसे आप का नाम, पता, आपके पेहचान पत्र की जानकारी इत्यादि, तो यह सब डाटा एंट्री जॉब का ही हिस्सा है। 

डाटा एंट्री कैसे करते हैं | How to do Data entry

सामान्य तोर पर किसी कंपनी में एक डाटा एंट्री ऑपरेटर का कार्य उस बिज़नेस से जुड़े डाटा की Entry करना, डाटा को Edit करना  Verify करना थता उसे Maintain करना होता है। डाटा की यह एंट्री कई बार कंपनी के ही अपने किसी सॉफ्टवेयर में, या सॉफ्टवेयर डेटाबेस में करनी होती है, साथ ही अधिक्तर कंपनियों में डाटा एंट्री के लिए Microsoft Excel, Spreadsheet थता Notepad इत्यादि का भी उपयोग किया जाता है।

डाटा जिसकी एंट्री की जाती है, वह किसी भी फॉर्म में हो सकता है, जैसे पेपर फॉर्म में यानि जिसे हाथों से लिखा गया हो, डॉक्यूमेंट या सॉफ्ट कॉपी के रूप में, या फिर वह Audio, video फाइल भी हो सकती हैं, जिन्हे डाटा ऑपरेटर द्वारा transcribe किया जाता है,  या उनकी एंट्री की जाती है।

आम तोर पर डाटा ऑपरेटर को पूरा डाटा कंपनी द्वारा उपलब्ध कराया जाता है, जिसकी उन्हें Entry करनी होती है, और उस डाटा को  maintain करना होता है, वहीँ कई बार डाटा ऑपरेटर खुद से भी डाटा तैयार करते हैं, जिसके लिए वे विभिन्न ऑनलाइन मंचो का भी  सहारा लेते हैं। 

एक नए डाटा ऑपरेटर को आम तोर पर Microsoft excel, Spreadsheet, या Notepad इत्यादि में तो Data Entry करना आता है, लेकिन वहीँ यदि किसी कंपनी द्वारा Data entry के लिए कोई विशेष सॉफ्टवेयर या सॉफ्टवेयर डेटाबेस उपयोग किया जा रहा हो, तो ऐसी स्तिथि में डाटा ऑपरेटर को कंपनी द्वारा पहले ट्रेनिंग दी जाती है, जहाँ पर वे सॉफ्टवेयर के फीचर्स को धीरे-धीरे समझते हैं, और उस पर काम करना शुरू करते हैं। क्योंकि कई कंपनियां Data Management के लिए अपना खुद का सॉफ्टवेयर भी develop करती हैं, जिसमे बिना ट्रेनिंग के किसी भी नए व्यक्ति के लिए काम करना मुश्किल होता है। 

डाटा ऑपरेटर कैसे बन सकते हैं | How to become a data operator

वर्तमान समय में डाटा एंट्री ऑपरेटर की आवश्यकता निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में है, बल्कि सरकारी विभागों में तो हर महीने डाटा ऑपरेटर की भर्तियां निकलती रहती हैं, जिन्हे योग्य डाटा ऑपरेटर्स द्वारा भरा जाता है। डाटा एंट्री ऑपरेटर्स की इतनी अधिक मांग होने का कारण यह है, क्योंकि अब सरकारी विभागों में भी सभी कार्य कंप्यूटर पर किये जाते हैं, जिसमे लगातार डाटा Update और maintain रखने के लिए डाटा ऑपरेटर्स की आवश्यकता रहती है। 

एक Data operator बनने के लिए आपका कम से कम 12वी पास होना अनिवार्य है, और साथ ही आपको ज्यादा नहीं बस कुछ बिंदुओं पर काम करना होगा।

शेक्षणिक योग्यता :- डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए आपका कम से कम 12वी पास होना अनिवार्य है, वहीँ यदि आप ग्रेजुएट हैं, या आपने डाटा एंट्री से जुड़ा कोई सर्टिफिकेशन किया हुवा है, तो यह आपके लिए एक plus point है, क्योंकि कई सरकारी-गैर सरकारी विभागों में डाटा ऑपरेटर पद के लिए ग्रेजुएट होना या डाटा एंट्री कोर्स अनिवार्य होता है, यानि यह पूरी तरह से उस विभाग के ऊपर निर्भर करता है। 

आयु सीमा :- डाटा ऑपरेटर के पद के लिए 18 से 30 साल की आयु सीमा निर्धारित है, वहीँ कई संस्थानों और विभागों में यह आयु सीमा अधिक से अधिक 40 साल तक की भी होती है। 

कंप्यूटर स्किल्स :- क्योंकि सारा काम कंप्यूटर पर होना है, तो कैंडिडेट को कंप्यूटर की सामान्य जानकारी होनी अनिवार्य है, जैसे कंप्यूटर ऑपरेट करना, स्टार्ट करना, बंद करना इत्यादि, साथ ही उन्हें MS Word/MS Excel, Power point में काम करना भी आना चाहिए, क्योंकि डाटा की एंट्री आम तोर पर इन्ही सॉफ्टवेयर प्रोग्राम पर की जाती है। 

टाइपिंग स्पीड :- डाटा ऑपरेटर बनने के लिए सबसे मुख्य सिकल्स में से एक है, Accuracy के साथ Typing speed होना। अधिक्तर संस्थानों और विभागों में टाइपिंग स्पीड और एक्यूरेसी को तरजीह दी जाती है। 

भाषा का ज्ञान :- एक सफल डाटा ऑपरेटर बनने के लिए आवश्यक है, की आपको भाषा का भी ज्ञान हो, यानि आम तोर पर भारत में हिंदी थता इंग्लिश में डाटा एंट्री की जाती है, ऐसे में यदि इन दोनों भाषाओं में आपकी अच्छी पकड़ है, तो यह आपके करियर को नई उचाईओं तक पहुंचा सकता है। 

यदि आप ऊपर बताए गए पॉइंट्स पर काम करते हैं, और खुद को तैयार कर लेते हैं, तो आप डाटा एंट्री ऑपरेटर पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। यही नहीं बल्कि यदि आपके पास अपना कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन है, तो इंटरनेट पर आज ऐसी ढेरों वेबसाइट हैं, जहाँ पर खुद को रजिस्टर करके घर बैठे भी डाटा एंट्री का काम किया जा सकता है, और अच्छा पैसा कमाया जा सकता है। यह कुछ मुख्य वेबसाइट हैं, जहाँ से आपको काम मिलेगा (Fiverr.com , Upwork.com, Freelancer.com) इत्यादि। 

अंतिम शब्द

तो दोस्तों आपने जाना Data entry kya hota hai, data entry jobs kya hota hai और डाटा ऑपरेटर कैसे बन सकते हैं। आज हर क्षेत्र में डाटा ऑपरेटर्स की आवश्यकता है, यदि आप भी डाटा ऑपरेटिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो थोड़ा मेहनत करके आपको अपनी टाइपिंग थता भाषा से जुड़ी स्किल्स को डेवलप करना होगा ताकि आप एक सफल डाटा ऑपरेटर बन सकें। 

हमें उम्मीद है, इस पोस्ट को पढ़कर आपको डाटा एंट्री से जुड़ी काफी जानकारी मिल गई होगी। यदि यह जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और यदि इस पोस्ट से जुड़े आपके कोई सवाल या सुझाव हैं, तो नीचे कमेंट द्वारा हमें बता सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-

(HR) Human resource का क्या काम होता है 

Cryptocurrency के बारे में जानकारी

ई-कॉमर्स क्या है 

स्टेनोग्राफर कैसे बने 

पर्सनल डेवलपमेंट कैसे करें 

Data entry kya hota hai | Data entry jobs kya hota hai | All about data entry jobs in hindi

Leave a Reply