Human resource kya hota hai | कंपनी में Human resource का क्या काम होता है
Human resource kya hai

Human resource kya hota hai | कंपनी में Human resource का क्या काम होता है

यदि आपने Human resource (HR) के बारे में काफी बार सुना है, लेकिन आप नहीं जानते हैं, की human resource kya hota hai या ह्यूमन रिसोर्स का क्या काम होता है, तो इस पोस्ट को पढ़कर आपको अपने दोनों सवालों के जवाब मिल जाएंगे।  

किसी भी छोटे, मध्य या बड़े आकार के बिज़नेस में Human resource (HR) की एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है, यदि HR को कंपनी का दिल भी कहा जाए तो गलत नहीं होगा। कंपनी के भीतर दूसरे सभी विभागों जैसे एकाउंट्स, प्रोडक्शन, परचेस की ही तरह Human resource (HR) भी एक डिपार्टमेंट होता है, HR डिपार्टमेंट के सीनियर को HR manager कहा जाता है, और human resource को हिंदी में मानव संसांधन कहते हैं।

HR को कंपनी के development में शामिल दूसरे सभी विभागों में से एक माना जाता है, क्योंकि human resource (HR) द्वारा ही कंपनी के भीतर कार्य का एक अच्छा माहौल तैयार किया जाता है, जहाँ पर कर्मचारियों और कंपनी से जुड़े सभी कार्यों को समय पर पूरा करके, आवश्यक नियम तैय करके, Strategies बना कर HR डिपार्टमेंट कंपनी को तरक्की की ओर ले जाता है, वहीँ यदि किसी मध्यम या बड़े आकार की कंपनी में HR डिपार्टमेंट ना हो, तो अधिक दिनों तक कंपनी को मैनेज करना या चलाना शायद संभव नहीं होगा।

तो Human resource (HR) के महत्व को समझने के बाद चलिए अब इसे थोड़ा और गहराई से समझते हैं, और साथ ही यह भी जानते हैं, की कंपनी में HR का क्या काम होता है।  

Human resource kya hota hai | Human resource in hindi

किसी भी कंपनी या संगठन की सबसे बड़ी ताकत उसके कर्मचारी (Employees) होते हैं, यदि कंपनी के पास धन या निवेश की कोई कमी नहीं है, उसके पास सभी नीवनतम उपकरण भी हैं, लेकिन यदि कंपनी के स्टाफ में या आम कर्मचारी में कोई काबिलियत ही ना हो, तो कंपनी द्वारा तैय Strategies, plans थता प्रक्रियाएं धरी की धरी रह जाएंगी यानि उन plans को सही से execute नहीं किया जा सकेगा। 

तो एक कंपनी में कुसल कर्मचारियों या काबिल स्टाफ का चयन करना, उनकी भर्ती और ट्रेनिंग करवाना, कर्मचारियों से जुड़े सभी दस्तावेजों को इखट्टा करना, उनको वेरीफाई करना, कर्मचारियों के हकों का ध्यान रखना, कार्यस्थल से जुड़ी सभी नीतियां और नियम तैय करना इत्यादि, यानि एक कंपनी या संगठन के भीतर कर्मचारी से जुड़े सभी फैसलों को Human resource द्वारा ही मैनेज किया जाता है।

यह कहा जा सकता है, की Human resource एक कंपनी थता कर्मचारी के बीच पूल की तरह कार्य करता है, HR ही वह डिपार्टमेंट होता है, जो कर्मचारियों के हकों थता कंपनी के उद्देश्यों के बीच संतुलन बना कर रखता है, यानि HR कर्मचारियों के हकों का ध्यान रखते हुवे कंपनी के उद्देश्यों की प्राप्ती के लिए काम करता है, इसलिए Human resource द्वारा लिए गए फैसले कर्मचारियों और कंपनी के बीच के संबंधो को प्रभावित करते हैं।

Human resource ka kya kaam hota hai

यदि उदाहरण के तोर पर Human resource के काम को समझने की कोशिश करें तो जब कभी आप किसी मध्यम या बड़े आकार की कंपनी में जॉब के लिए जाते हैं, तो आपका सबसे पहला सामना (HR) से ही होता है, जो आपके इंटरव्यू, सैलरी से लेकर दस्तावेज इखट्टा करने थता आपको कंपनी के नियम बताने तक के सभी कार्य करते हैं, यानि कंपनी में आपकी Recruitment प्रक्रिया HR डिपार्टमेंट के द्वारा ही शुरू होती है।

इसी प्रकार जब आप कंपनी छोड़ कर जा रहे होते हैं, तब भी HR द्वारा आपसे कंपनी छोड़ने की वजह पूछी जाती है, यदि आप एक काबिल स्टाफ हैं, तो आपको कंपनी में बने रहने के लिए कहा जाता है, उसके बाद भी यदि आप कंपनी छोड़ना चाहते हैं, तो HR द्वारा ही experience letter जैसे दूसरे सभी दस्तावेज तैयार करके आपको कंपनी से छोड़ा जाता है। तो इस उदाहरण से आप समझ ही गए होंगे की कंपनी में HR कितना महत्वपूर्ण डिपार्टमेंट होता है।   

निम्नलिखित कार्य जो Human resource (HR) द्वारा आम तोर पर किए जाते हैं। 

  • कर्मचारियों की भर्ती करवाना। 
  • उनका सिलेक्शन करना। 
  • उनकी ट्रेनिंग करवाना। 
  • उनके दस्तावेजों की जाँच करना थता वेरीफाई करना। 
  • काम के प्रति कर्मचारियों को मोटीवेट करना। 
  • पेरोल मैनेजमेंट करना। 
  • कर्मचारियों के हकों का ध्यान रखना। 
  • उन्हें स्वास्थ और सुरक्षा संबंधित सुविधाएं प्रदान करना। 
  • कर्मचारियों से अच्छे संबंध स्थापित करना। 
  • कर्मचारियों की आवाज को सुनना और आगे पहुँचाना। 
  • प्रदर्शन अनुसार कर्मचारियों की पद्दौन्नति करना। 
  • कंपनी द्वारा लिए गए फैसलों को कर्मचारियों तक पहुँचाना। 
  • कर्मचारियों के बीच उतपन्न विवादों का समाधान करवाना। 
  • आवश्यकता पड़ने पर कर्मचारी को Compensation दिलवाना।
  • आवश्यकता पड़ने पर कंपनी में नए नियमों को लागु करवाना। 

Importance of human resource in hindi

दुनिया की लगभग हर एक छोटी-बड़ी कंपनी में HR डिपार्टमेंट मौजूद होता है, जिसका कार्य और क्षमता इतनी होती है, की वह कंपनी के सबसे महत्वपूर्ण संसाधनों को मैनेज कर सकते हैं, और बिना एक active और functioning HR डिपार्टमेंट के किसी भी कंपनी या संगठन में ना तो कुशल कर्मचारियों की भर्ती की जा सकती है, और ना ही कंपनी में कार्य का अच्छा माहौल तैयार किया जा सकता है। 

यानि बिना (HR) डिपार्टमेंट के एक कंपनी उच्च स्तर की दक्षता और कार्यबल मैनजमेंट हासिल करने में विफल हो सकती है, और यह कंपनी के फ़ैल हो जाने की वजह भी बन सकता है।  

(HR) के महत्व का अंदाजा तभी लगाया जा सकता है, जब किसी कंपनी में HR ना हो। सोचिये यदि किसी मध्यम या बड़े आकर की कंपनी में (HR) ही ना हो तो क्या होगा। आम तोर किसी कंपनी में या तो कोई एक व्यक्ति HR के पद पर रहता है, या पूरा HR डिपार्टमेंट मौजूद होता है, यदि कंपनी में यह दोनों ही ना हो तो निम्नलिखित कुछ परेशानियाँ उत्पन्न हो सकती हैं। 

  • कुशल और काबिल कर्मचारियों की भर्ती नहीं हो पाती है। 
  • कर्मचारियों से जुड़े कानूनों का उलंघन होता है। 
  • कर्मचारियों की बात सुनने वाला कोई नहीं होता। 
  • उन्हें सही से गाइड करने वला कोई नहीं होता। 
  • कार्यस्थल से जुड़े नियम नहीं बन बाते। 
  • नियमों का उल्लंघन आम हो जाता है। 
  • कर्मचारियों को मोटीवेट करने वाला कोई नहीं होता। 
  • कर्मचारियों का कंपनी छोड़ कर जाना रोज की बात हो जाती है। 
  • कार्य में productivity समाप्त हो जाती है। 
  • सही से ट्रेनिंग नहीं हो पाती है। 
  • कर्मचारियों की आवाज उठाने वाला कोई नहीं होता। 
  • पेरोल मैनेजमेंट सही से नहीं हो पाता है। 
  • कर्मचारियों से जुड़ी डॉक्यूमेंटेशन सही से नहीं हो पाती है। 
  • कंपनी में अनुशासन समाप्त हो जाता है। 
  • कर्मचारियों का कंपनी से एक अच्छा रिलेशन नहीं बन पाता है। 

Human resource (HR) me career kaise banaye

आपने जाना किस प्रकार (HR) किसी कंपनी की workforce को तैयार करता है, Staffing को कंट्रोल करता है, और बिना अच्छे वर्कफोर्स और स्टाफिंग के कोई भी कंपनी अधिक समय तक Survive नहीं कर सकती है। इसलिए आज हर कंपनी में (HR) मौजूद है, या अच्छे HR professionals की आवश्यकता है, और अनुमान अनुसार आने वाले समय में यह आवश्यकता बढ़ती चली जाएगी। 

तो यदि आप भी HR के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो पहले की तुलना में आज इस फील्ड में जाना आसान हो गया है। Human resource (HR) Professional बनने के लिए आपका कम से कम Graduate होना आवश्यक है, हालाँकि यह एक ऐसा फील्ड है, जिसमे अलग-अलग education background से professionals आते हैं, लेकिन इस field में तरक्की के लिए कम से कम आपका graduate होना और आपके पास Human resource में degree या diploma होना आवश्यक है। 

उसके बाद किसी दूसरे कार्यक्षेत्र की ही तरह Human resource के क्षेत्र में भी पहले आपको कुछ experience लेने की आवश्यकता पड़ती है, इसके लिए आप किसी कंपनी में जहाँ HR डिपार्टमेंट हो, वहाँ Internship के रूप में अपनी शुरुवात कर सकते हैं। और जब एक बार आप किसी कार्य से जुड़ जाते हैं, तो वहां से आपका सीखना शुरू हो जाता है। 

इंटर्नशिप में आपको कार्य की पहचान हो सकेगी, आपकी skills डेवलप होंगी, और आपको यह भी पता चल जाएगा की Human resource में किस position के लिए आगे आपको तैयारी करनी चाहिए, उसके लिए यदि किसी Certification या course की  आवश्यकता है, तो वह भी आप कर सकेंगे। आज Online ऐसे ढेरों Human resource courses मौजूद हैं, जहाँ से आप ह्यूमन रिसोर्स से जुड़ी अपनी शिक्षा और ज्ञान दोनों को बढ़ा सकते हैं। यह एक ऐसा प्रोफेशन है, जिसमे आपका Up to date रहना और सीखते रहना आवश्यक है। 

दोस्तों हमें उम्मीद हैं, अब आपको जानकारी हो गयी होगी human resource kya hota hai और इसका क्या काम है। यदि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी है, तो हमें कमेंट कर के जरूर बातएं धन्यवाद। 

यह भी पढ़ें :-

कंपनी प्रोफाइल कैसे बनाए 

करंट अकाउंट कैसे खोलें 

Leave a Reply