लीडरशिप क्या होता है | What is Leadership in hindi | नेतृत्व Skills डेवेलोप करें
लीडरशिप क्या होता है

लीडरशिप क्या होता है | What is Leadership in hindi | नेतृत्व Skills डेवेलोप करें

आज का यह पोस्ट लीडरशिप के बारे में है, इसमें आप जानेंगे लीडरशिप क्या होता है, Leadership in hindi, और कैसे आप अपने भीतर leadership qualities डेवेलोप कर सकते हैं।

लीडरशिप क्या होता है | What is leadership in hindi

लीडरशिप को समझने से पहले यह जानना जरुरी है, की लीडर कौन होता है? सामाजिक दृष्टि से लीडर उस व्यक्ति को कहा जाता है, जो दूसरों को रास्ता दिखाए, जिसमे दूसरों का विश्वास हो, लोग उसे फॉलो करें वहीँ यदि कॉर्पोरेट जगत की नजर से लीडर के अर्थ को समझा जाए, तो वहाँ बड़े पदों पर बैठे व्यक्ति जिनके अंतर्गत लोग कार्य करते हैं, जिनके निर्णय पर कार्यों में बदलाव किए जाते हैं, वे लीडर कहलाते हैं। 

आम जीवन में कोई भी व्यक्ति कभी भी लीडर बन सकता है, यह जरुरी नहीं की सिर्फ घोसित करके ही किसी को लीडर बनाया जा सकता है, यानि जहाँ लोग आप को फॉलो करने लगते हैं, आपकी बात सुनते हैं, आप पर विश्वास करते हैं, भले ही वे 4 लोग हों या 4 चार हजार, तो आप एक लीडर कहलाएंगे।

तो एक लीडर के नेतृत्व करने के तरीके, उसकी प्रक्रिया थता नेतृत्व क्षमता को Leadership कहा जाता है, जहाँ उसके एक निर्णय से लोग अपना सर्वश्रेस्ट देने के लिए प्रेरित हों वह लीडरशिप कहलाती है। लीडरशिप को एक प्रकार से लीडर की उस क्षमता के तोर पर  परिभाषित किया जा सकता है, जिससे वह दूसरे लोगों को प्रेरित कर सके, उन्हें गाइड कर सके जो की सकारात्मक या नकारात्मक दोनों रूप से हो सकता है।

लेकिन एक सही लीडरशिप वही कहलाती है, जो सकरात्मक हो, जिसमे निर्णय लेने की क्षमता हो, पर्सनल डेवलपमेंट, दूसरों को डेवेलोप करना, उन्हें मोटीवेट करना थता सबको साथ लेकर चलने की बात हो। लीडरशिप में एक साफ़ vision होना, मुश्किल निर्णय लेना, लोगों की भावनाओं थता जरूरतों का ध्यान रखते हुवे उन्हें लक्ष्य की ओर बढ़ते रहने के लिए प्रेरित करना शामिल होता है। 

अपने अंदर leadership qualities कैसे develop करें।

लीडरशिप गुणों का होना आपके व्यक्तिगत थता व्यवसायिक जीवन दोनों के लिए बहुत जरुरी है, यदि यह गुण आप अपने भीतर डेवेलोप कर लेते हैं, तो आप जीवन के हर मुश्किल से मुश्किल पड़ाव में भी विजेता बन कर निकलेंगे, तो चलिए जानते हैं, किस प्रकार अपने भीतर लीडरशिप qualities को develop किया जा सकता है। 

  • अनुशासन में रहना सीखें :- यदि आप अपने व्यक्तिगत और व्यवसायिक जीवन में एक अच्छे लीडर बनना चाहते हैं, तो आज से ही अनुशासन में रहना अपनी आदत बना लीजिये, क्योंकि यदि आप अनुसाशित रहेंगे तो आपके आस-पास रहने वाले लोग भी आपसे प्रेरित होंगे।  

  • दूसरों की बात भी सुने:- सिर्फ अपनी बात दूसरों को बताना या बोल देना ही काफी नहीं होता, बल्कि हमें दूसरों के पक्ष उनकी बात, उनके विचारों को भी ध्यान से सुनना चाहिए क्योंकि जरुरी नहीं की आपको हर बात की जानकारी हो, इसलिए एक अच्छा श्रोता होना भी बहुत जरुरी है। दूसरों को ध्यान से सुनने पर सामने वाला व्यक्ति भी आपसे जुड़ाव महसूस करता है, और अपनी बात को खुल कर बताता है। 

  • निर्णय लेना सीखें :- अपने भीतर निर्णय लेने की क्षमता उत्पन्न करें, क्योंकि जब तक आप निर्णय नहीं लेंगे तो भ्रमित रहेंगे। हम में से कई लोग बड़े से बड़ा कार्य तो करना चाहते हैं, लेकिन उनमे निर्णय लेने की क्षमता नहीं होती है, वे अक्सर confuse रहते हैं, और जो व्यक्ति confuse रहता है, वह कभी भी एक अच्छा लीडर नहीं बन सकता। इसलिए आज से ही जीवन में छोटे-छोटे निर्णय लेने शुरू कर दीजिये, ताकि जब बात बड़े निर्णय लेने की होगी, तो आपके पैर नहीं डगमगाएंगे। 

  • पेहल करें :- दूसरों को आज्ञा देने के बजाय खुद से पेहल करने की आदत डालें, और जिम्मेदारी लें, ताकि दूसरे लोग आपको फॉलो करें। खुद से पेहल करने के लिए आपके सामने नई चुनौतियां आएंगी, आपको नई चीजों के बारे में सीखना होगा, जिम्मेदारी लेना आपकी आदत बन जाएगी, और यह सब एक सक्षम लीडरशिप की पहचान है।  

  • अपने भीतर सिखने की ललक पैदा करें :- जीवन में हमेसा नई चीजें सीखते रहना बहुत जरुरी है, आप यह कभी भी नहीं कह सकते हैं, की आपने सब कुछ सिख लिया है, क्योंकि यह संभव ही नहीं है। इसलिए हमेशा कुछ नया सिखते रहें, ताकि आप व्यस्त रहें, आप में नई स्किल्स डेवेलोप हो सकें, आप नई चुनौतियों का सामना कर सकें, जो की एक अच्छा लीडर बनने के लिए बहुत जरुरी है। 

  • साथ जुड़े लोगों को प्रेरित करें :- एक अच्छा लीडर बनने के लिए जरुरी है, की आप अपने साथ जुड़े लोगों को प्रेरित करें, उन्हें मोटीवेट करें लेकिन किसी को प्रेरित और मोटीवेट तभी किया जा सकता है, जब आप खुद भी उस पथ पर चल रहें हों, और आपके उस पथ पर चलने का लाभ लोगों को दिख रहा हो, साथ जुड़ें लोगों की बात आप सुन रहें हों, उनके emotions के साथ आपका लगाव हो। इसलिए सच्चाई से काम करें और अपने विचारों को खुल कर लोगों के सामने रखें। 

  • दूसरों को प्रोत्साहित करें :- आपके साथ जुड़ी टीम या आपके आसपास के लोग जो भी थोड़ा अच्छा काम करता है, उन्हें  प्रोत्साहित करें, ताकि उनके भीतर और कुछ नया करने की भावना उत्पन्न हो सके और यही अच्छा लीडर बनने की दिशा में एक जरुरी कदम है। 

  • विवाद सुलझाएं :- यदि आपसे जुड़े लोगों के बीच आपस में किसी प्रकार का विवाद, या मतभेद है, उसे नजर अंदाज करने के बजाय सुलझाने की कोशिश करें, उनके बीच के मन मुटाव को समझकर दूर करने की कोशिश करें और यदि कहीं कोई गलती पाई जाती है, तो साफ़ केहना और निर्णय लेने की क्षमता भी अपने भीतर रखें। 

तो दोस्तों आपने जाना लीडरशिप क्या होता है, What is leadership in hindi और किस प्रकार आप अपने भीतर लीडरशिप गुणों को डेवेलोप कर सकते हैं। लीडरशिप स्किल्स का होना ना सिर्फ आपके अच्छे करियर के लिए आवश्यक है, बल्कि इन स्किल्स के होने से आप जीवन में आने वाली हर कठिनाई का सामना आसानी से कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें :-

टीमवर्क क्या होता है 

तनाव से बचने के उपाय 

खुद को पॉजिटिव कैसे रखें 

Leave a Reply