मुनक्का कैसे खाएं | मुनक्का खाने का सही तरीका | मुनक्का खाने के 6 फायदे
munakka kaise khaen

मुनक्का कैसे खाएं | मुनक्का खाने का सही तरीका | मुनक्का खाने के 6 फायदे

आज के इस पोस्ट में आप मुनक्का खाने का सही तरीका जानेंगे, तो चलिए जानते हैं, मुनक्का कैसे खाएं और मुनक्का खाने के क्या फायदे हैं।

सदियों से मुनक्के को शरीर के लिए लाभदायक माना जाता रहा है, इसकी वजह है, मुनक्के में मौजूद वे पोषक तत्व जो शरीर को मजबूती प्रदान करते हैं, और शरीर में घातक बिमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न करते हैं। इसीलिए अक्सर पहले के समय से ही चला आ रहा है, की घर पर जब कोई बीमार हो जाता है, तो घर के बड़े-बूढ़े उस बीमार व्यक्ति को मुनक्का खाने की सलाह देते हैं।

निश्चित ही मुनक्का खाने के अनेकों-अनेक लाभ हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं, मुनक्के का भरपूर लाभ तभी लिया जा सकता है, जब आपको मुनक्का खाने का सही तरीका पता हो, और अक्सर बहुत से लोग इस बात को लेकर शंसय में रहते हैं, की आख़िर मुनक्का कैसे खाएं, ताकि मुनक्का खाने का पूरा लाभ लिया जा सके। 

इस से पहले की हम आपको मुनक्का खाने का सही तरीका बताएं चलिए इस बात पर थोड़ा नजर डाल लेते हैं, की आख़िर मुनक्का होता क्या है, इसे कैसे तैयार किया जाता है।  

मुनक्का क्या होता है | मुनक्का कैसे खाएं

मुनक्का हो या किशमिश दोनों को तैयार करने का तरीका लगभग एक समान ही है, और दोनों अंगूरों को सुखाकर तैयार किये जाते हैं। किशमिश जहाँ आकार में थोड़ा छोटा होता है, वहीँ मुनक्का आकार में किशमिश से बड़ा होता है, और इन दोनों ड्राई फ्रूट्स के बीच ना सिर्फ आकार में बल्कि ओषधीय रूप से भी काफी फर्क है। 

मुनक्के को आयुर्वेद में ओषिधिय गुणों से युक्त फल माना गया है, जिसके छिलके से लेकर बीज तक सभी ओषिधि का काम करते हैं। शरीर में खून की कमी हो, हड्डिया कमजोर हो जाएं, शारीरिक दुर्बलता महसूस हो, कब्ज की शिकायत हो, हार्ट से जुड़ी समस्या हो या फिर आँखों की रौशनी कम हो ऐसी अनेक समस्याओं के निदान के लिए आयुर्वेद में मुनक्के का सेवन करने की सलाह दी गई है।  

मुनक्का देश के कई राज्यों में उगाया जाता है, यह अंगूर की एक खास प्रजाति है, जिसका आकार सामान्य अंगूर से थोड़ा बड़ा होता है। अंगूर की यह प्रजाति हरे और काले रंग की होती है, जो की मीठे रस से भरपूर होती है। इसमें मौजूद बीजों को भी आयुर्वेद अनुसार बहुत ही लाभकारी माना गया है। 

पेड से तोड़ने के बाद इन अंगूरों को सुखाने की प्रक्रिया से गुजारा जाता है, और इसके बाद यह सूखे मेवे यानि मुनक्का में बदल जाते हैं। अक्सर लोग मुनक्का और किशमिश में फर्क नहीं कर पाते हैं, लेकिन आपको बता दें किशमिश में बीज नहीं होता है, जबकि मुनक्का आकार में किशमिश से थोड़ा बड़ा होता है, साथ ही उसमे बीज भी होते हैं। 

मुनक्का कैसे खाएं | मुनक्का खाने का सही तरीका

निश्चित ही मुनक्का खाना फायदेमंद है, लेकिन सही तरीके से खाना अधिक फायदेमंद है। आयुर्वेद अनुसार मुनक्का खाने से शरीर में वात और पित्त संतुलित रहता है।

ध्यान रखें की ड्राई फ्रूट चाहे कोई भी हो एक दिन खाने से उसका कोई खास लाभ प्राप्त नहीं होता है, बल्कि लाभ प्राप्त करने के लिए आपको कुछ समय के लिए प्रतिदिन उनका सेवन करना होगा, तभी सही परिणाम प्राप्त हो पाते हैं।  

मुनक्का खाने का सही तरीका। 

  • एक स्वस्थ व्यक्ति दूध के साथ प्रतिदिन 5 से 6 मुनक्के खा सकता है। 

  • आप रात भर मुनक्का पानी में भीगा कर रख लें, और फिर सुबह नास्ते के समय उनका सेवन करें, रात भर भिगने से उन्हें पचाना हर किसी के लिए आसान हो जाता है। 

  • आप चाहें तो 5 से 6 मुनक्के दूध में उबाल कर रात को सोने से पहले भी खा सकते हैं। इस प्रकार प्रतिदिन मुनक्के का सेवन करने से शरीर में बिमारियों से लड़ने की शक्ति उत्पन्न होती है। 

  • मुनक्के को ओषिधि गुणों से युक्त कहा गया है, तो ध्यान रहे इसमें मौजूद बीजों को फैंकें नहीं बल्कि उन्हें भी सही से चबा लें ताकि मुनक्के का पूरा फायदा मिल सके।
     
  • मुनक्के और दूसरे ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर आप लड्डू भी तैयार कर सकते हैं, और प्रतिदिन दूध के साथ एक लड्डू खाने से शारीरिक दुर्बलता समाप्त होगी। 

  • यदि शरीर में आयरन या कैल्शियम की कमी है, तो मुनक्के को शहद में मिलाकर खाने से इस कमी की पूर्ति की जा सकती है। 

मुनक्का खाने के फायदे

मुनक्का खाने के निम्नलिखित फायदे हैं। 

  • एनीमिया में लाभदायक:- किशोरावस्था में अधिकांश बच्चियाँ एनीमिया की स्थति से जूझती हैं, ऐसी स्थति में शरीर में आयरन की कमी हो जाती है, जिसके कारण कमजोरी और थकान महसूस होने लगती है। मुनक्का आयरन और विटामिन B से भरपूर होता है, प्रतिदिन मुनक्के के सेवन से यह कमी पूरी की जा सकती है।   

  • हड्डियाँ मजबूत करता है:- हड्डियों की मजबूती के लिए शरीर में कैल्शियम की पूर्ति होना आवश्यक है, ऐसे में मुनक्का बहुत ही फायदेमंद साबित होता है, क्योंकि यह कैल्शियम और बोरोन नामक पोषक तत्व से भरपूर होता है, जो हमारी हड्डियों और दातों को मजबूती प्रदान करते हैं। 

  • वजन बढ़ाने में कारगर :- यदि शरीर दुबला है, और आप प्राकर्तिक रूप से अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो ऊपर बताए गए तरीके को अपनाएं और प्रतिदिन मुनक्के का सेवन करें, जिससे आपका खाना पचेगा भूक और वजन दोनों बढ़ेंगे। मुनक्का ग्लूकोस और प्राकर्तिक शुगर से युक्त होता है, इस लिए इसे वजन बढ़ाने में कारगर माना जाता है। 

  • कब्ज की शिकायत दूर करता है :- पाचन तंत्र में कमी के कारण शरीर में कई रोग उत्पन्न होते हैं। ऐसे में यदि आपको कब्ज या एसिडिटी की शिकायत है, तो प्रतिदिन मुनक्के के सेवन से यह शिकायत दूर की जा सकती है। मुनक्के में फाइबर की मात्रा काफी अधिक होती है, जिसका प्रतिदिन सेवन मल त्याग को दुरुस्त कर कब्ज की शिकायत को दूर करता है। 

  • आँखों के लिए फायदेमंद :- मुनक्के में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स आँखों की हेल्थ के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। इसके सेवन से आँखों की कम रौशनी और मोतियाबिंद के खतरे को कम किया जा सकता है। इसलिए आँखों की रौशनी तेज बनाए रखने के लिए  प्रतिदिन सुबह के समय भीगे हुवे मुनक्के का सेवन करें। 

  • बालों के लिए :- यदि आपके बालों में रूखापन है, बाल झड़ते हैं, उनकी चमक गायब हो गई है, तो मुनक्के का सेवन करें। मुनक्के में भरपूर मात्रा में मौजूद पोषक तत्व, विटामिन C और विटामिन D बालों को पोषण प्रदान कर उन्हें मजबूत बनाते हैं, साथ ही यह स्काल्प से डैंड्रफ की सफाई कर बालों की जड़ों तक पोषक तत्व और रक्त संचार को भी बनाए रखते हैं। 

दोस्तों किसी भी चीज की अधिकता हमेशा नुकसानदेह होती है, इसी प्रकार मुनक्के का सेवन भी बताए अनुसार ही करें। 

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों आपने जाना मुनक्का कैसे खाएं, मुनक्का खाने का सही तरीका और लाभ। हमें उम्मीद है, दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी, यदि जानकारी अच्छी लगी है, तो इसे दूसरों के साथ भी सांझा करें और इस पोस्ट से जुड़े यदि आपके कोई सवाल या सुझाव हैं, तो आप कमेंट द्वारा हमें बता सकते हैं। 

यह भी पढ़ें 

एल्कलाइन पानी क्या होता है 

बुरांश जूस के फायदे 

Leave a Reply