NRI account meaning in Hindi | NRI account kya hota hai
NRI account kya

NRI account meaning in Hindi | NRI account kya hota hai

हेलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे NRI account kya hota hai और NRI account के कितने प्रकार हैं। क्या यह एक सामान्य बैंक अकाउंट है, या इस में कोई खास बात है, चलिए जानते हैं। 

ऐनआरआई अकाउंट के बारे में समझने से पहले जान लेते हैं, की NRI kya hota hai या ऐन-आर-आई कीन्हे कहा जाता है।

NRI का full form है, Non resident indian यानि भारतीय नागरिक जो विदेश में पढ़ने, नौकरी करने या बिज़नेस के लिए गए हों। जैसे हजारों भारतीय नागरिक जो विदेश में पढ़ने या नौकरी के लिए जाते हैं, यदि वे साल में 120 दिनों से अधिक समय के लिए वहां रहते हैं, तो वे NRI कहलाते हैं।  

अब जब NRI जो विदेश में रहते हैं, वहाँ पढ़ते हैं, या नौकरी करते हैं, यानि साल का काफी समय वहाँ बिताते हैं, तो सामान्य सी बात है, की उन्हें अपने फाइनेंसियल लेन-देन की भी आवश्यकता पड़ती है।

तो NRI को अपनी banking और investment के लिए एक सामान्य बैंक अकाउंट से अलग अकाउंट की आवश्यकता पड़ती है, जिसमें money transfer, currency denomination थता taxes इत्यादि से जुड़ी सुविधाएँ उपलब्ध हों, जिसके लिए उन्हें NRI account खुलवाना पड़ता है, तो चलिए अब विस्तार से समझते हैं, की NRI account किसे कहते हैं। 

NRI account kya hota hai

ऐनआरआई अकाउंट एक NRI (Non resident indian) या PIO (Person of indian origin) के द्वारा RBI अधिकृत किसी फाइनेंसियल संस्थान या बैंक में खुलवाया जाने वाला एक प्रकार का बैंक अकाउंट होता है।

NRI account के द्वारा एक NRI (Non resident indian) विदेश में रहकर कमाए जा रह अपने धन को save या invest कर सकता है, या भारत से हो रही उसकी कमाई को विदेश में प्राप्त कर सकता है। 

क्योंकि NRI भारत में रह रहे आम व्यक्ति की तरह ही अपना एक regular saving account नहीं खुलवा सकते है, तो उन्हें अपनी फाइनेंसियल ट्रांसेक्शन्स के लिए NRI अकाउंट खुलवाना पड़ता है, जिसके जरिये वह विदेशी मुद्रा को indian rupees में ट्रांसफर कर सके और NRI account में अपने पैसे की सेविंग कर सके। 

ऐनआरआई तीन प्रकार के बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं, NRE account, NRO account थता FCNR account तो चलिए इन तीनो को ही समझते हैं। 

Types of NRI account in Hindi

जैसे हमने बताया की NRI भारत में अपना सामान्य सेविंग अकाउंट नहीं खुलवा सकते हैं। Foreign exchange management act (FEMA) की guidelines अनुसार कोई भी NRI अपने नाम पर भारत में सामान्य सेविंग अकाउंट नहीं खुलवा सकता है, और यदि ऐसा पाया जाता है, की किसी NRI ने अपने नाम पर यहाँ पर भी कोई सेविंग अकाउंट खुलवाया हुवा है, तो उसे भारी पेनल्टी देनी पड़ सकती है। 

ऐसे में उनके द्वारा NRE या NRO अकाउंट का उपयोग किया जाता है, ताकि विदेश में कमाए जा रहे अपने धन को वे भारत में इन्वेस्ट कर सकें, धन की सेविंग कर सकें या भारत से उत्पन्न income को विदेश में प्राप्त कर सकें। 

Non-Resident External account (NRE):-

यह अकाउंट NRI द्वारा खुलवाया जाने वाले एक बैंक अकाउंट होता है, जिसमें NRI विदेश में कमाए गए अपने धन को भारतीय मुद्रा में deposit कर सकता है।

NRE अकाउंट का उपयोग सिर्फ विदेश में कमाए जा रहे धन को deposit करने के लिए ही हो सकता है, यानि इसमें भारत से generate income या भारतीय मुद्रा को deposit नहीं करवाया जा सकता है, और NRE अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज पर भी किसी प्रकार का टैक्स नहीं देना पड़ता है।

NRE अकाउंट एक Current account, saving account या Fixed deposit account हो सकता है।

यदि एक उदाहरण से NRE अकाउंट को समझें तो मान लीजिये आप एक NRI हैं, जो अमेरिका में रहते हैं। आप जो भी income डॉलर में कमाते हैं, उसे NRE अकाउंट में जमा करेंगे तो वह पैसा Rupees में जमा होगा, जैसे यदि 1 डॉलर 75Rs के बराबर है, और आपने 500 डॉलर जमा करे हैं, तो आपके NRE अकाउंट में 37500 Rs जमा होगा। 

Non-Resident Ordinary account (NRO):-

NRI द्वारा NRO account का उपयोग भारत से generate हो रही Income को प्राप्त करने के लिए किया जाता है। इस इनकम का श्रोत Interest, rent या dividends हो सकता है।

इसे आप money transfer सुविधा की तरह देख सकते हैं, जिसके माध्यम से आप विदेश में रहते हुवे भी भारत में हो रही अपनी इनकम को प्राप्त कर सकते हैं, हालाँकि NRO अकाउंट में मिलने वाले interest पर आपको काफी अधिक टैक्स देना पड़ता है। 

यदि NRO अकाउंट को उदाहरण से समझें तो मान लीजिये आप एक NRI हैं, जो Germany में रहते हैं, लेकिन भारत में आपका मकान या दुकान है, जिसका हर महीने आपको किराया प्राप्त करना है, तो ऐसे में आप NRO अकाउंट खुलवा सकते हैं। 

Foreign currency Non-Resident (FCNR):-

यह अकाउंट NRI (Non resident indian) या PIO (Person of indian origin) को fixed deposit की सुविधा उपलब्ध करता है, जिसमे वे foreign currency के रूप में ही अपने पैसे को fixed deposit कर सकते हैं। यह saving account नहीं है, बल्कि एक Fixed deposit अकाउंट है।

RBI अनुसार Currency जो इसमें deposit की जा सकती है वे कुछ इस प्रकार हैं, US dollar (USD), Canadian dollar (CAD), Australian dollar (AUD), Euro इत्यादि। 

यदि NRI द्वारा FCNR अकाउंट में एक तय रकम जमा कर दी जाती है, तो जिस भी करेंसी में वह रकम जमा की गई है, वह तय समय के लिए उसी करेंसी में जमा रहेगी।  

 

निवेदन:-  दोस्तों आपने पढ़ा NRI account kya hota hai, यदि यह पोस्ट आपको ज्ञानवर्धक लगी है, तो इसे अपने मित्रों के साथ भी शेयर करें। इस पोस्ट से जुड़े आपके कोई सवाल हैं, या हमारे लिए कोई सुझाव है, तो आप हमें कमेंट द्वारा हमें बता सकते हैं, धन्यवाद।  

इसे भी पढ़े :- वेस्टर्न यूनियन क्या है

Leave a Reply