You are currently viewing आरबीआई क्या होता है, भारतीय रिज़र्व बैंक का का क्या काम है?
RBI kya hai

आरबीआई क्या होता है, भारतीय रिज़र्व बैंक का का क्या काम है?

क्या आप जानना चाहते हैं, आरबीआई (RBI) क्या होता है, RBI का full form क्या है, और आरबीआई का क्या काम है, यदि हाँ तो हमारी इस पोस्ट को पूरा पढ़ें, क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम आपको RBI की विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं, जिसे पढ़कर आपको आर-बी-आई के बारे में काफी कुछ जानने को मिलेगा।  

आरबीआई का फुल फॉर्म क्या है (Full form of RBI in Hindi)

आर-बी-आई का full form होता है (Reserve bank of India) अर्थात भारतीय रिज़र्व बैंक। 

आरबीआई क्या होता है (What is RBI in Hindi)

RBI भारत का केंद्रीय बैंक (Central bank) है, इसे बैंको का बैंक भी कहा जाता है। यह  भारतिय मुद्रा को जारी करता है, मुद्रा का प्रबंधन करता है, देश में वित्तीय संस्थानों की देख-रेख करता है, पैसे की supply और Interest rates को तैय करता है, थता सरकार की मौद्रिक व बैंकिंग संबंधित नीतियों को भी यह नियंत्रित करता है।

यदि एक वाक्य में कहा जाए तो RBI देश की पुरी banking थता monetary structure को नियंत्रित, संचालित थता निर्देशित करता है। यह देश के सभी बैंको के ऊपर मौजूद एक सर्वोच्च बैंक है, जिसके द्वारा तैय किए गए दिशा-निर्देशों का पालन सभी कमर्शियल बैंको को करना अनिवार्य होता है, यानि सेंट्रल बैंक ने जो कह दिया वह पत्थर की लकीर है। RBI ही कमर्शियल बैंको को लाइसेंस देता है, या उनका लाइसेंस रद्द कर सकता है।  

आरबीआई की स्थापना कब हुई थी

आर-बी-आई की स्थापना 1 अप्रैल 1935 को reserve bank of India act 1934 के अंतर्गत की गई थी, यानि यह एक statutory body है, जिसका मुख्य कार्य देश की वित्तीय प्रणाली (Financial system) का प्रबंधन, व संचालन करना है। statutory body यानि वह संस्था या संगठन जो संसद द्वारा बनाए गए अधिनियम या कानून से अस्तित्व में आया हो। 

बाबा भीम राव अंबेडकर ने भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना में अपनी अहम् भूमिका निभाई थी, उनके द्वारा Hilton young commission को प्रदान किए गए दिशा निर्देशों के आधार पर ही RBI की स्थापना की गई थी। 

आरबीआई के मुख्य कार्य क्या हैं

ऊपर आपने मोटे तोर पर जाना की भारीतय रिज़र्व बैंक क्या है, और यह क्या काम करता है, चलिए अब एक-एक कर RBI द्वारा किए जाने वाले कार्यों को समझते हैं, जिससे आपको RBI के functions की जानकारी हो जाएगी। 

नोट जारी करना (Issue of bank notes) :-

देश में नोटों की छपाई और उन्हें जारी करने का एकाधिकार सिर्फ रिज़र्व बैंक के पास है, यानि देश में छपने वाले सभी नोटों को (एक रुपए के नोट को छोड़कर) रिज़र्व बैंक द्वारा issue किया जाता है। एक रुपए का नोट या सिक्कों को वित्त मंत्रालय (Ministry of finance) द्वारा जारी किया जाता है। 

सरकार का बैंक (Banker to government) :-

जिस प्रकार आम जनता के लिए विभिन्न कमर्शियल बैंक कार्य करते हैं, जैसे हमारा अकाउंट मैनेज करते हैं, पैसा जमा करते हैं, हमें लोन देते हैं इत्यादि यानि आम जनता की बैंकिंग के सारे कार्य करते हैं। ठीक उसी प्रकार RBI भी सरकार का बैंक है, जो गवर्नमेंट के लिए एक बैंकर, एजेंट या वित्तीय सलाहकार की तरह कार्य करता है, और समय-समय पर सरकार को मौद्रिक नीतियों पर सलाह देता रहता है। 

बैंको का बैंक (Bankers to Bank) :-

जैसे की हमने ऊपर भी बताया है, की RBI बैंको का बैंक है, यानि जिस प्रकार सभी कमर्शियल बैंक अपने ग्राहकों के लिए कार्य करते हैं, ठीक उसी प्रकार Reserve bank भी सभी commercial बैंको के लिए काम करता है। यह सभी बैंको के ऊपर एक प्रमुख बैंक है, जो सभी बैंको को Supervise करता है, उन्हें manage करता है, उन्हें ऋण प्रदान करता है, और इसके दिए गए दिशा निर्देशों का सभी बैंको को पालन करना होता है। 

क्रेडिट का नियंत्रक (Controller of Credit) :-

Credit control RBI की मौद्रिक निति का एक बहुत ही महत्पूर्ण फंक्शन है, जिसके द्वारा RBI अर्थव्यस्ता में पैसे की मांग और आपूर्ति पर नियंत्रण रखता है। इसके लिए RBI उस ऋण पर अपना नियंत्रण रख सकता है, जो कमर्शियल बैंक अपने ग्राहकों को प्रदान करते हैं, यानि रिज़र्व बैंक कमर्शियल बैंको की ऋण निति तैय कर सकता है।

पैसे के प्रवाह पर नियंत्रण रखने के लिए RBI जिन दो तरीकों का उपयोग करता है, वह हैं, Quantitative थता Qualitative उपाय। इन measures को अपनाकर अर्थव्यवस्था में महंगाई या मंदी में संतुलन बनाया जाता है, माल (Goods) की कीमतों पर नियंत्रण रखा जाता है, और विकास पर ध्यान दिया जाता है। 

विदेशी मुद्रा भंडार संरक्षक (Custodian of country’s foreign reserves) :-

रिज़र्व बैंक देश के विदेशी मुद्रा भंडार के संरक्षक के रूप में भी कार्य करता है। यह (FEMA Act) के अनुसार देश में विदेशी मुद्रा के प्रवाह को regulate करता है, और विदेशी मुद्रा को पर्याप्त मात्रा को maintain रखता है। इसके लिए यह foreign exchange market में विदेशी मुद्रा को बेचता व खरीदता है, ताकि विदेशी विनिमय दर (Foreign exchange rate) को maintain रखा जा सके। 

आरबीआई का हेड क्वार्टर कहाँ स्थित है

शुरू के दिनों में रिज़र्व बैंक का head quarter कोलकाता में स्थित था लेकिन सन 1937 में हेड क्वार्टर को स्थाई रूप से मुंबई स्थानांतरित कर दिया गया, तो आज यह देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में स्थित है। 

दोस्तों आपने पढ़ा Reserve bank (RBI) kya hota hai,  रिज़र्व बैंक का क्या काम है और किस तरह यह अर्थव्यवस्था को बनाए रखने और मजबूत करने के लिए काम करता है।  यदि पोस्ट आपको ज्ञानवर्धक लगी है, तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें और यदि आपके कोई सवाल या सुझाव हैं, तो कमेंट कर हमें जरूर बताएं। 


यह भी पढ़ें :- 

सेबी का क्या काम है

NRI account क्या होता है 

Leave a Reply