Study कैसे करें | Study me man kaise lagaye | how to focus on study in hindi
Study me man kaise lagaye

Study कैसे करें | Study me man kaise lagaye | how to focus on study in hindi

Study me man kaise lagaye (How to focus on study in hindi)

आज की यह जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें हम Students के मन में अक्सर उठने वाले सवाल Study कैसे करें, Study me man kaise lagaye या स्टडी में मन लगाने का क्या उपाय है, इसके बारे में बात करने जा रहे हैं। यदि आप एक student हैं, और पढाई में Concentrate करने के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप बिलकुल सही दिशा में जा रहे हैं, और यह पोस्ट आप जैसे विद्यार्थियों के लिए ही लिखा गया है। 

कहा जाता है, की भले ही कोई दिन भर कितनी भी पढाई कर लें, लेकिन यदि पढ़ते समय Study’s में concentrate नहीं कर पाते हैं, और दिमाग दूसरी चीजों की तरफ भटकता रहता है, तो उस पढ़ने का कोई लाभ प्राप्त नहीं हो पाता है, लेकिन वहीँ अगर दिन भर में सिर्फ कुछ घंटे Concentration के साथ पढाई की जाए, जहाँ आपका दिमाग सिर्फ अपनी पढाई पर लगा रहे तो उस पढ़ने का आपको पूरा लाभ मिलता है, और आप टॉपिक्स को अच्छे से समझ पाते हैं। तो इस बात से पता चलता है, की मन लगाकर Concentration के साथ पढाई करना आपके लिए कितना फलदाई साबित हो सकता है।  

इससे पहले की आप जानें, Study me man kaise lagaye (How to focus on study in hindi) चलिए पहले यह समझने की कोशिश करते हैं, की स्टडी में मन ना लगने के क्या कारण हैं, और क्यों आख़िर एक विद्यार्थी का पढाई में मन नहीं लग पाता है, या वह Concentrate होकर पढाई नहीं कर पाता है।  

पढाई में मन ना लगने का क्या कारण है।

आख़िर क्यों कई छात्र पढाई में Concentrate नहीं कर पाते हैं, या अपना मन नहीं लगा पाते हैं, चलिए उन कारणों को समझते हैं। दरअसल छात्रों की एक आम शिकायत रहती है, की वे पढ़ना तो चाहते हैं, लेकिन उनका पढाई में मन नहीं लग पाता है, या वे पढ़ने बैठते हैं, तो कुछ देर पढाई में ध्यान लगाने के बाद फिर उनका दिमाग दूसरी चीजों की तरफ भागने लगता है। 

पढाई में मन ना लगा पाने के कई कारण हैं, उनमे से एक सबसे मुख्य कारण है, मोटिवेशन की कमी। आम तोर पर देखा जाता है, की कई स्टूडेंट्स पढाई के प्रति खुद को मोटीवेट नहीं कर पाते हैं, वे खुद के भीतर पढ़ने की इच्छा ही पैदा नहीं कर पाते हैं, वे जैसे ही कुछ देर पढ़ने बैठते हैं, तो उनका मन दूसरी चीजों की तरफ भागने लगता है। 

दूसरा आज सोशल मीडिया थता दूसरे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स का ऐसा वातावरण बन गया है, जहाँ पर स्टूडेंट्स का ध्यान भंग करने के लिए चीजों की कमी नहीं है, क्योंकि पढ़ते समय जैसे ही फोन बजता है, तुरंत हमारा ध्यान पढाई से हटकर फोन की तरफ चला जाता है, की चलो पहले मैसेज देख लें, या मैसेज का जवाब दे दें, तो इस प्रकार का वातावरण पढाई से ध्यान हटाने का कारण बनता है। 

कई बार होता है, की स्टूडेंट्स पढाई के साथ-साथ दूसरे कार्य भी कर रहे होते हैं, जिसे मल्टीटास्किंग कहते हैं, यानि जैसे ही थोड़ा देर पढ़ने बैठे तो बीच में खुद को या परिवारजनों को कोई काम याद आ गया उसे करने लगे, तो यह भी Study में Concentrate नहीं कर पाने का कारण है।

पढाई में मन नहीं लगा पाने का तीसरा कारण है, हद से अधिक दोस्त होना, या ऑनलाइन Games की तरफ आकर्षण होना, जहाँ पर पढ़ते समय भी आपके दिमाग में चल रहा होता है, की बस Chicken dinner होते-होते रह गया, या अगले स्टेज में पहुँचना है, इत्यादि, तो यह सब ऐसी चीजें हैं, जिनका असर दिमाग से जल्दी नहीं निकल पाता है, और ये पढाई में disturbance का कारण बनते हैं। 

पढाई में मन ना लगा पाने के कुछ चुंनिंदा कारणों के बारे में आपने जाना, तो चलिए अब अपने मुख्य टॉपिक की तरफ आते हैं, और समझते हैं, की Study me man kaise lagaye (How to focus on study in hindi)

Study me man kaise lagaye (How to focus on study in hindi)

Study में Concentrate करना चाहते हैं, तो नीचे बताए गए इन 10 टिप्स का अनुसरण करें। इन टिप्स को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने के बाद आप पढाई में मन लगा पाएंगे और पढाई करने में आपको मजा भी आने लगेगा।  

खुद को मोटीवेट करें :- हर एक वो कार्य जिसे करने में आप आलस करते हैं, या उसमे आपका मन नहीं लग रहा होता है, तो उस कार्य को अपने रूटीन में लाने के लिए शुरू में आपको मोटिवेशन की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार यदि आप पढाई में ध्यान नहीं लगा पाते हैं, तो शुरुवात पहले खुद को पढाई के प्रति motivate करके करें, चाहे वह मोटिवेशन आप महान शख्शियतों की जीवनी पढ़के ला रहे हों, या किन्ही दूसरे जरियों से ग्रहण कर रहे हों, आपके भीतर पढ़ने की इच्छा जागृत होनी जरुरी है।

इसके साथ ही अपनी study’s के महत्व को समझें, यह सोचें की ना पढ़ने से और कार्यों को टाल कर आप क्या खो रहे हैं, थता अपनी क्षमताओं को कम ना आंके और खुद की तुलना दूसरों से ना करें। 

पढ़ाई करने का टाईमटेबल बनाए :- जब आप खुद को पढाई के प्रति मोटीवेट कर लेते हैं, और पढाई में concentrate करना चाहते हैं, तो अगला जरुरी कदम है, की आप अपनी पढाई का टाईमटेबल बनाएं, जिससे आपके पढ़ने का रूटीन बना रहेगा।

Study timetable बनाने से ना सिर्फ पढ़ने का समय तैय हो जाएगा बल्कि इस से खाना, सोना, घूमना और व्यायाम भी समय पर होने लगेगा और जब एक बार आपकी पढाई का टाईमटेबल सेट हो जाए तो उसका पालन करने की पूरी कोशिश करें। हालाँकि शुरू में आप थोड़ा असहज महसूस करेंगे लेकिन कुछ समय टाईमटेबल अनुसार चलने पर आप पढाई में concentrate करने लगेंगे और आपका पढाई में मन भी लगने लगेगा। 

अपनी पढाई के लिए सही स्थान चुने :- पढाई के लिए एक अच्छे और शांत माहौल का होना बहुत जरुरी है, जहाँ पर आपको डिस्टर्ब करने वाला कोई ना हो, और आप जितनी देर भी पढ़ें आपका पूरा ध्यान स्टडी में बना रहे। इस लिए हमेशा अपने पढ़ने के लिए वह स्थान चुने जहाँ पर्याप्त मात्रा में रौशनी हो, बैठने, पढ़ने के लिए अच्छी जगह हो, थता वहां अधिक शोर-शराबा ना हो, फिर देखिये आपका पढ़ने में मन भी लगेगा और आपको मजा भी आएगा।

आम तोर पर स्टूडेंट्स घर में परिवारजनों के शोर-शराबे के बीच बैठ कर पढ़ने की कोशिश कर रहे होते हैं, जहाँ हर थोड़ा समय में कोई ना कोई आपका नाम ले रहा होता है, या आपको किसी काम के लिए बुला लिया जाता है, तो ऐसे माहौल में पढ़ना संभव नहीं हो पाता, इस लिए पढ़ने के लिए सही स्थान चुने। 

फोन और सोशल मीडिया से थोड़ा दूरी बनाए :- आज के समय में फोन का इस्तेमाल काफी ज्यादा बढ़ गया है, और फोन का use काम के लिए कम बल्कि सोशल मीडिया, गेम्स या बेकार की दूसरी वेबसाइट को खोलने के लिए अधिक किया जाता है। सोशल मीडिया का इतना गहरा असर है, की बस हर कुछ मिनट में हम फोन खोलकर चेक करने लगते हैं, की क्या किसी का मैसेज आया या नहीं, और इन सब गतिविधियों में हमारा काफी ज्यादा समय व्यर्थ हो जाता है। 

तो ऐसी स्थिति में यदि आप एक विद्यार्थी हैं, तो आपके लिए इन समय व्यर्थ करने वाली गतिविधियों से दूरी बनाना बहुत जरुरी है, अन्यथा आपको इसका काफी नुकसान हो सकता है। तो अपने मन में ठान लें की फोन या सोशल मीडिया का इस्तेमाल में ना के बराबर करूँगा या करुँगी, और पढाई करते समय फोन को साइलेंट करके या एयरोप्लेन मोड में खुद से दूर रखें ताकि आपका ध्यान भंग ना हो।

फोन पास रखने पर आपने महसूस किया होगा की जैसे ही आप पढाई में concentrate कर रहे होते हैं, तभी फोन में आए नोटिफिकेशन की तरफ आपका ध्यान चला जाता है, और आप उसे देखने लगते हैं, जिसके बाद फिर से पढाई में ध्यान लगाना काफी मुश्किल हो जाता है। इसलिए आज से ही फोन से थोड़ा दूरी बनाना शुरू कर दें, खास करके पढाई करते समय फोन पास ना रखें। 

अपनी प्राथमिकताओं पर ध्यान केंद्रित रखें :- दरअसल हम में से कई लोग होते हैं, जो किसी कार्य को मोटीवेट होकर करना तो शुरू कर देते हैं, लेकिन कुछ समय बाद उनका ध्यान फिर से भटक जाता है, और वे फिर से पहली वाली स्थति में पहुँच जाते हैं, लेकिन आपको ऐसा नहीं करना है।

इसलिए अपनी प्राथमिकताओं और लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित रखना आपके लिए बहुत जरुरी है, तो ध्यान केंद्रित रखने के लिए आपको अपने आस पास ऐसा माहौल तैयार करना होगा, जिसे देखकर आपको अपनी priorities याद रहें और आप दिशा से ना भटके।

खाली समय में अपनी एक डायरी बनाए जहाँ पर अपनी प्राथमिकताओं थता लक्ष्य को लिखें आपको किस समय क्या करना है, आगे जाकर क्या achieve करना है, साप्ताहिक कार्य इत्यादि और इसके लिए आप डायरी के साथ-साथ अपने कमरे में stickers भी लगा सकते हैं, जो आपको लक्ष्य से भटकने से बचाएंगे और आपका ध्यान केंद्रित रहेगा। 

अनुशासित रहें :- हर कार्य में अनुशासन का होना आवश्यक है, ठीक उसी प्रकार जब आप अपने पढाई का टाईमटेबल बनाते हैं, पढ़ने थता दूसरे कार्यों का समय तैय करते हैं, तो उसमें यह नहीं होना चाहिए की चलो आज रहने देते हैं, कल पढ़ेंगे या चलो 1 घंटा नहीं 15 मिनट पढ़ लेते हैं, बल्कि आपको अपना एक सिस्टम बनाना है, जहाँ पर आप पुरे अनुशासित होकर उस सिस्टम के नियमों का पालन करेंगे।

यदि आपने नियम तैय किया है, की पढ़ते समय में फोन को खुद से दूर रखूँगा या रखूंगी तो उस नियम का पालन करें, यदि आप अपने बनाए नियमों का खुद पालन नहीं करते हैं, तो यह अनुशासनहीनता होगी। अनुशासित रहने से आपका पढाई में ध्यान भी लगेगा और धीरे-धीरे वह अनुशासन ही आपकी आदत बन जाएगा। 

छोटे लक्ष्य से शुरुवात करें :- यदि आप सोचेंगे की में आज ही सारी किताबें पढ़ डालूंगा या पढ़ने बैठे हैं, तो सुबह से शाम तक पढ़ रहे हैं, ऐसा करना आपके दिमाग और शरीर दोनों के लिए सही नहीं है, और ना ही आप अपने इस schedule को ज्यादा दिनों तक अपना पाएंगे।

बल्कि शुरू में जब आप पढ़ने का टाईमटेबल तैयार कर रहे हों, तो छोटे-छोटे लक्ष्य रखें, अधिक लंबे समय तक पढ़ने ना बैठे, और फिर धीरे-धीरे पढाई के समय और लक्ष्य दोनों को एक तैय समय-सीमा तक बढ़ाएं। ऐसा करने से ना सिर्फ शुरुवात में छोटे लक्ष्यों को प्राप्त करने पर आपको ख़ुशी होगी बल्कि धीरे-धीरे पढाई की आपकी आदत भी बन जाएगी।  

टॉपिक्स को समझें :- पढाई में ध्यान केंद्रित करने का एक बेहतर तरीका है, की आप टॉपिक्स या जो भी आप पढ़ रहे हैं, उसे सिर्फ पढ़ने या रटने के बजाय समझने की कोशिश करें। जब आप टॉपिक्स या कांसेप्ट को समझने की कोशिश करते हैं, तो खुद-ब-खुद ही उसमे आपका ध्यान लगने लगता है। असल में पढाई करने का मतलब भी यही है, की आप चीजों को समझने की कोशिश करें ताकि एक बार पढ़ा और समझा हुवा टॉपिक आपको लंबे समय तक याद रहे। 

खुद को शांत रखें :- किसी भी कार्य में ध्यान लगाने के लिए आपके दिमाग का शांत रहना आवश्यक है, उसी प्रकार पढाई करते समय भी आप इधर-उधर की बातों से प्रभावित ना हों, बल्कि जिस पल आप पढ़ने बैठें बीती सभी बातों को भूल जाएं और खुद को शांत रखें। क्योंकि एक शांत दिमाग ही इंसान को सही से Concentrate करने में मदद करता है।  

प्रतिदिन व्यायाम करें :-  प्रतिदिन व्यायाम करना आपके शरीरी और दिमाग दोनों के लिए लाभदायक है, यह मस्तिक्ष में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है, जिससे आपका Concentration और focus बेहतर होता है। व्यायाम को स्ट्रेस और डिप्रेशन दूर करने के सटीक इलाज के रूप में देखा जाता है, थता इस से आपका मूड बेहतर होता है, और नींद भी अच्छी आती है। यदि पढ़ने से आधे घंटे पहले आप व्यायाम करते हैं, तो पढ़ते समय आप पाएंगे की आपका concentration और focus पहले से बेहतर हुवा है, और पढाई में भी ध्यान लगेगा। 

पौष्टिक आहार लें :- शरीर और मस्तिक्ष को स्वस्थ और तंदरुस्त बनाए रखने के लिए जरुरी है, की आप भोजन समय पर करें और पौष्टिक आहार लें। एक कहावत है, की भूखे पेट भजन नहीं होते उसी प्रकार आपको भी समय पर भोजन करना चाहिए ताकि आप पढाई में अच्छे से मन लगा सकें। अपने खान-पान में फलों का सेवन बढ़ाए थता उन सभी खान-पान की वस्तुओं का चुनाव करें जो आपके मस्तिक्ष और शरीर दोनों के लिए लाभदायक होते हैं। 

अच्छी नींद लें :- पुरे दिन की थकान दूर करने के लिए अच्छी नींद लेना आवश्यक है, इसलिए समय पर सोएं रात को अधिक देर तक ना जागें। एक विद्यार्थी के लिए दिन के 24 घंटों में कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेना बहुत जरुरी है, क्योंकि यदि आपकी नींद पूरी नहीं होती है, तो यह आपके शरीर और दिमाग दोनों के लिए सही नहीं है, और ना ही आप पढाई में या किसी दूसरी गतिविधि में Concentrate कर सकेंगे। एक अच्छी नींद लेने के बाद अगले दिन आप अपने दिमाग और शरीर में नई फुर्ती महसूस करते हैं, इसलिए यदि पढाई में मन लगाना चाहते हैं, तो अच्छी नींद लें। 

निष्कर्ष

दोस्तों आपने पढ़ा स्टडी कैसे करें, Study me man kaise lagaye (How to focus on study in hindi) इस पोस्ट से यही निष्कर्ष निकलता है, की पढाई को गंभीरता से ना लेना और बिना योजना के पढाई करने से ना तो आप सही से पढ़ सकेंगे और ना ही आपका दिमाग एक जगह स्थिर रहेगा। इसलिए Concentration के साथ पढ़ने के लिए पढ़ने का टाईमटेबल बनाए और अनुसाशन के साथ उस टाईमटेबल का पालन करें, जिसके बाद निश्चित ही आपका पढ़ने में मन लगने लगेगा। 

खुद को पॉजिटिव कैसे रखें ?

Leave a Reply